अनूपपुर CMHO शासन का कार्य करने के बजाय निजी क्लीनिक चलाने में व्यस्त ?इलाज के लिए प्राइवेट अस्पताल भेजा, प्रसूता की मौत

अनूपपुर/

स्वास्थ्य विभाग अनूपपुर की व्यवस्था लगातार गिर रही है और यहां के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी अपनी क्लिनिक चलाने में ही व्यस्त नज़र आ रहे हैं। फर्जी आंकड़ों से ही वाहवाही लूटने की आदत पहले से ही स्वास्थ्य विभाग अनूपपुर में चली आ रही है।

देखा जाए तो जितने भी CMHO पद पर अधिकारी आए हैं हमेशा विवादित ही रहे हैं पहले डॉ बी डी सोनवानी 14 लोगों को फर्जी तरीके से मलेरिया विभाग में भर्ती करने पर निलंबित हुए , अब नए CMHO का क्या होगा ऊपर वाला जाने।

ताजा मामला है प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बेलिया बड़ी का , वहां पर स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही के कारण प्रसूता की मौत हो गई बताया गया कि गभीर हालत में कोतमा अंतर्गत गोविंदा की रहने वाली रेणु देवी को जब प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बेलिया बड़ी में लाया गया तो वहां के कर्मचारियों ने प्रसूता का इलाज करने के बजाय प्राइवेट अस्पताल में भेज दिया गया । समय पर इलाज न मिलने के कारण प्रसूता की मौत हो गई।