एक नाबालिग का बाल विवाह रुकवाया गया


भोपाल :

जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास भोपाल ने बताया है कि थाना छोला मंदिर क्षेत्र के एक 17 वर्षीय किशोर का विवाह रूकवाया गया है। उन्होंने बताया कि 1098 पर फोन आया था कि 17 वर्षीय बालक की माता द्वारा उसका बाल विवाह करवाया जा रहा हैं। सूचना के बाद चाइल्ड लाइन द्वारा महिला एवं बाल विकास परियोजना अधिकारी गोविंदपुरा श्री अखिलेश चतुर्वेदी, सुपरवाइजर सोनल जैसवाल विशेष किशोर इकाई की प्रभारी करिश्मा एवं पूरी टीम थाना छोला मंदिर गई वहां पर थाना प्रभारी श्री अनिल मौर्य को केस की जानकारी दी गई। बालक के घर पहुँचकर टीम बालक की माता नर्मदा बाई से मिली।

और पढ़े …बुलंद सोच के नए कलेवर का हुआ एमसीयू में विमोचन,मुख्य अतिथि के रूप में मंत्री,विधायक,पत्रकार एवम शिक्षाविद रहे मौजूद

टीम द्वारा बात-चीत करने पर माता द्वारा बताया गया कि मेरे बच्चे सगाई की बात चल रही है शादी अभी नही हो रही है। मेरे पति का देहांत हो चुका है तो घर में परेशानी के चलते शादी करवा रही थीं और बच्चे ने पढ़ाई भी छोड़ दी है। टीम ने बालक से अकेले मे बातचीत की तो बच्चे ने बताया कि मेरी माता मेरी शादी गांव इमलिया की लड़की से करवा रही है। शादी फरवरी में करने की बोल रही थीं। 24 जनवरी को मेरी लगुन आ रही थीं। टीम द्वारा बालक के उम्र से संबंधित दस्तावेज देखे गए। माता द्वारा बालक निलेश की 12 कक्षा की अंकसूची दिखाई गई जिसमें बालक की उम्र 17 वर्ष 05 माह पाई गई। टीम द्वारा माता तथा परिजनों से बात-चीत कर उन्हें समझाइश दी गई साथ ही परिवार द्वारा पंचनामा बनवाया गया कि अगर वे बालक की शादी 21 वर्ष से कम उम्र में करते है तो उन पर कानूनी कारवाई की जायेगी।