गणतंत्र दिवस परेड 2022: जश्न मनाने के लिए भारतीय वायुसेना(Indian AirForce) के 75 विमानों द्वारा एक विशेष फ्लाई पास्ट (flypast)

भारत की आजादी के 75 साल के उपलक्ष्य में आजादी का अमृत महोत्सव(Amrit Mahotsav) के एक हिस्से के रूप में, गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान 75 विमानों के साथ “अब तक का सबसे भव्य फ्लाईपास्ट” दिल्ली में राजपथ पर होगा। वायु सेना (Indian AirForce)के पीआरओ विंग कमांडर इंद्रनील नंदी ने सोमवार को इसकी जानकारी दी। इन 75 विमानों में 5 राफेल भी शामिल होंगे।फ्लाईपास्ट (flypast)में तंगेल फॉर्मेशन शामिल होगा जिसमें एक डकोटा और दो डोर्नियर विक फॉर्मेशन में उड़ान भरेंगे। यह 1971 के युद्ध के तंगेल एयरड्रॉप ऑपरेशन के लिए एक श्रद्धांजलि है।

न्यूज एजेंसी एएनआई से विंग कमांडर इंद्रनील नंदी ने कहा कि भारतीय वायुसेना(Indian AirForce), थल सेना(ARMY) और नौसेना(NAVY) के 75 लड़ाकू विमान राजपथ पर फ्लाईपास्ट(flypast) करेंगे और यह अब तक का सबसे भव्य फ्लाईपास्ट(flypast) होगा. इसमें 5 राफेल लड़ाकू विमान शामिल होंगे. इसके अलावा फ्लाई पास्ट(flypast) में पहली बार नौसेना(Navy) के MiG29K और P81 फाइटर जेट भी भाग ले रहे हैं.

यह आजादी का अमृत महोत्सव (Amrit Mahotsav)समारोह के अनुरूप होगा। उन्होंने कहा कि विनाश फॉर्मेशन में राजपथ के ऊपर से उड़ान भरने के लिए पांच राफेल भी मौजूद होंगे। आजादी का अमृत महोत्सव(Amrit Mahotsav) मनाने के लिए 17 जगुआर लड़ाकू विमान 75 के आकार में उड़ान भरेंगे।उस दिन को चिह्नित करने के लिए जब भारत वास्तव में स्वतंत्र हुआ और ऐतिहासिक पूर्ण स्वराज प्राप्त किया।

इस बीच, पांच मध्य एशियाई देशों, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, ताजिकिस्तान, तुर्कमेनिस्तान और उजबेकिस्तान का एक दल, जो गणतंत्र दिवस 2022 समारोह के मुख्य अतिथि होंगे, इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए दिल्ली पहुंचे हैं।