जहरीली शराब पीने से तीन लोगों की मौत ,दो पुलिसकर्मी निलंबित

मध्य प्रदेश के भिंड में रौन पुलिस थानांतर्गत इंदुर्खी गांव में कथित रूप से जहरीली शराब पीने से तीन लोगों की मौत हो गई। यह घटना रविवार रात को हुई। अधिकारी ने बताया कि इंदुर्खी गांव निवासी मनीष जाटव और उसका भाई छोटू जाटव भिंड के स्वंत्रत नगर में अवैध शराब बनाने वाली एक फैक्ट्री में मजदूरी करते थे।

Read More…अमहिया पुलिस की कार्यवाही नाबालिग के साथ दुष्कर्म करने वाला हुआ आरोपी हुआ गिरफ्तार

ये दोनों इस फैक्ट्री से अपने गांव में शराब की बोतल लेकर आये और उन्होंने यह शराब पी, जिससे उनकी तबियत खराब हो गई। उन्होंने कहा कि उपचार के दौरान मनीष की भिंड जिला अस्पताल में एवं छोटू की गांव के पास अस्पताल ले जाते वक्त रास्ते में ही मौत हो गई। अधिकारी ने बताया कि इसके कुछ ही घंटे बाद इस शराब को पीने वाले तीसरे व्यक्ति छोटू सिंह की भी ग्वालियर के एक अस्पताल में मौत हो गई। अवैध शराब के इस मामले में भिंड पुलिस अधीक्षक शैलेंद्र सिंह चौहान ने रौन पुलिस थाना प्रभारी उदयभान सिंह यादव और सिटी कोतवाली थाना प्रभारी राजकुमार शर्मा को निलंबित कर दिया है तथा पांच आरक्षकों को लाइन हाजिर कर दिया है।

दो पुलिसकर्मी निलंबित, पांच लाइन हाजिर
पुलिस अधीक्षक के मुताबिक स्वतंत्र नगर के पास अवैध शराब की फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया गया था. फैक्ट्री पकड़ी जाने के बाद ये जानकारी सामने आई थी कि यहां बनी शराब रौन थाना के इंदुर्खीगांव तक पहुंची थी. बता दें कि रविवार को दो सगे भाइयों की संदिग्ध मौत हो गई. इस मामले में जहरीली शराब से मौत की आशंका जताई जा रही है. दोनों को तबीयत खराब होने के बाद अस्पताल ले जाया जा रहा था. एक की रास्ते में और दूसरे की अस्पताल में मौत हो गई. इस मामले में दो थाना इंचार्ज को संस्पेंड किया गया है और इंदुर्खी बीट पर तैनात पांच जवानों को लाइन हाजिर किया गया है

क्या कहना है एसपी का
एसपी शैलेंद्र सिंह चौहान का कहना था कि दो थाना प्रभारियों को निलंबित किया गया है। पांच जवान जिनमें आरक्षक, प्रधान आरक्षक, एसआई को लाइन अटैच किया गया है। शराब बनाने वाला एरिया कोतवाली थाने का था या फिर देहात का। इस बात की पड़ताल कराई जाएगी। रविवार को पुलिस अफसरों द्वारा तैयार जांच रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की गई। एक बार फिर से पड़ताल कराई जाएगी।