बोर्ड एग्जाम पर कोरोना का साया, अप्रैल तक खिसक सकती हैं बोर्ड परीक्षाएं

मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस की बढ़ती लहर को देखते हुए राज्य के स्कूलों को 31 जनवरी 2022 तक के लिए बंद कर दिया गया है. 10वीं और12वीं के बोर्ड परीक्षा फरवरी में शुरू होंगे भी या नहीं इस पर भी अब तक फैसला होते नजर नहीं आ रहा है। स्कूल शिक्षा विभाग
को देखते हुए लग रहा है, जैसे वे वेट एंड वॉच का मॉडल
अपनाए हुए हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है कि एग्जाम को लेकर कोई भी डिफरेंट प्लान तैयार नहीं किया जा रहा। 31 जनवरी तक अगर कोरोना का पीक नहीं आया तो एग्जाम की तारीखों को आगे बढ़ाया जा सकता है।  रिसर्च रिपोर्ट्स के अनुसार बताया जा रहा है कि फरवरी में ही कोरोना का पीक आ सकता है। और पढ़े …सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने आज NEET PG काउंसिलिंग पर आदेश दे दिया है

अप्रैल में भी नहीं हुए तो क्या होगा?

अप्रैल में भी अगर एग्जाम नहीं हुए तो इंटरनल वेल्युएशन के आधार पर रिजल्ट जारी किए जा सकते हैं. पिछले साल मार्च में आए कोरोना के पीक को देखते हुए ही इस साल फरवरी में एग्जाम करवाने का फैसला लिया गया, लेकिन इस बार जनवरी में ही कोरोना के केस तेजी से बढ़ने लगे। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो अगर 31 जनवरी तक हालात इसी तरह बने रहे तो एग्जाम डेट को शिफ्ट कर दिया जाएगा। ऑफिशियली बोर्ड के
पास फरवरी से मई तक का समय है, इस दौरान कभी भी
एग्जाम करवाए जा सकते हैं। एग्जाम का शेड्यूल राज्य में कोरोना के खतरे को देखते हुए पहली बार 10वीं और
12वीं के बोर्ड एग्जाम फरवरी में शेड्यूल किए गए। 10वीं के एग्जाम 18 फरवरी से 10 मार्च और 12वीं के एग्जाम 17 फरवरी से 12 मार्च तक आयोजित किए जाएंगे. 10 बजे से शुरू होने वाले एग्जाम एक बजे तक चलेंगे. एग्जाम का ऑफिशियल टाइम टेबल MP बोर्ड की वेबसाइट पर जारी कर दिया गया है, स्टूडेंट्स mpbse.nic.in पर जाकर टाइम टेबल देख सकते हैं।

8.30 बजे पहुंचना होगा एग्जाम सेंटर में

नियमों में बताया गया कि स्टूडेंट्स को एग्जाम सेंटर में 8.30 बजे ही पहुंचना होगा, 8.45 बजे तक स्टूडेंट्स को एग्जाम सेंटर में एंट्री दी जाएगी। उसके बाद स्टूडेंट्स को एंट्री नहीं दी जाएगी।