हिजाब विवाद पर Covaxin बनाने वाली कंपनी भारत बायोटेक की को-फाउंडर ने दिया ये बयान

कर्नाटक का हिजाब पहनने को लेकर विवाद के चलते कर्नाटक में शुरू हुआ प्रदर्शन अब राज्य के कई और स्कूल कॉलेजों में भी फैल गया. कॉलेज परिसरों में पथराव की घटनाओं के कारण पुलिस को बल प्रयोग करने के लिए मजबूर होना पड़ा, जिससे टकराव-जैसी स्थिति देखने को मिली.
हिजाब को लेकर कर्नाटक में जारी विवाद
कर्नाटक में हिजाब विवाद का मसला थमने का नाम नहीं ले रहा है. इस बीच कोरोना का टीका कोवैक्सिन बनाने वाली कंपनी भारत बायोटेक की को- फाउंडर और JMD सुचित्रा एला का बयान आया है.

दरअसल, सुचित्रा एला ने एक ट्वीट किया, “मेरे शिक्षक मिसेज हिगिंस, मिस्टर फारूक, मिस्टर शास्त्री 1960/70/80s, एक ही सेंट्रल स्कूल में थे. भाई-बहन अल्पसंख्यक संस्थानों में पढ़ते थे, सभी को यूनिफॉर्म पहननी होती थी, किसी ने शिकायत नहीं की थी! सबसे अच्छे दोस्त और शिक्षक विभिन्न राज्य, क्षेत्र और धर्मों के थे. सीखें, जियें, प्यार करें और लीड करें.

बता दें कि हिजाब पहनने को लेकर विवाद के चलते कर्नाटक में शुरू हुआ प्रदर्शन अब राज्य के कई और स्कूल कॉलेजो में भी फैल गया. कॉलेज परिसरों में पथराव की घटनाओं के कारण पुलिस को बल प्रयोग करने के लिए मजबूर होना पड़ा, जिससे टकराव-जैसी स्थिति देखने को मिली.

इधर, हिजाब पहनने की मांग करने वालों को कर्नाटक हाईकोर्ट ने बड़ा झटका दिया है. अदालत ने इस मामले में फैसला आने तक स्कूल-कॉलेजों में धार्मिक पोशाक पहनकर जाने पर रोक लगाई है और कहा कि तब तक शिक्षण संस्थान खोले जा सकते हैं. मामले में अगली सुनवाई अब सोमवार को दोपहर 2:30 बजे की जाएगी