भोपाल पुलिस की गुंडागर्दी:आपस मे बातचीत कर रहे MCU के छात्र-छात्रा के साथ आरक्षक ने की मारपीट

पत्रकारिता विश्वविद्यालय के छात्र के साथ कांस्टेबल ने मारपीट कर दी।कारण यह कि छात्र अपनी सहपाठी छात्रा के साथ बातचीत कर रहा था।कांस्टेबल पर आरोप है कि वह नशे में था और उनकी बात चीत को अय्याशी बता रहा था।
पत्रकारिता विश्वविद्यालय के छात्र के साथ कांस्टेबल ने मारपीट कर दी।कारण यह कि छात्र अपनी सहपाठी छात्रा के साथ बातचीत कर रहा था।कांस्टेबल पर आरोप है कि वह नशे में था और उनकी बात चीत को अय्याशी बता रहा था।
  • MCU के छात्र के साथ कांस्टेबल ने की मारपीट,एएसपी ने किया लाइन अटैच
  • रचना टावर के सपीप छात्र-छात्रा आपस में बातचीत कर रहे थे,कांस्टेबल पर आरोप-नशे में था

बुलंदसोच क्राइम रिपोर्टर भोपाल।

पत्रकारिता विश्वविद्यालय के छात्र के साथ कांस्टेबल ने मारपीट कर दी।कारण यह कि छात्र अपनी सहपाठी छात्रा के साथ बातचीत कर रहा था।कांस्टेबल पर आरोप है कि वह नशे में था और उनकी बात चीत को अय्याशी बता रहा था।कांस्टेबल ने उसकी सहपाठी छात्रा के सामने ही छात्र के कपड़े उतरवाने का प्रयास किया जिसका वीडियो लोगों ने कैमरे में कैद कर वायरल कर दिया। घटना का संज्ञान लेते हुए एएसपी ने कांस्टेबल को निलंबित करते हुए लाइन हाजिर कर दिया है।

Read more:विंध्य में सत्ता के बाहुबलियों से थरार्ये प्रशासनिक अधिकारी,आये दिन पिटने की खबरें आ रहीं सामने

जानकारी के मुताबिक माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के रचना टॉवर के समीप छात्र और छात्रा सड़क पर खड़े होकर बातचीत कर रहे थे, इसी बीच नशे में धुत कांस्टेबल प्रशांत तिवारी वहां पहुंचा और छात्र को पीटना शुरू कर दिया। घटना गुरुवार शाम 5.30 बजे की है। बताया जा रहा है कि विवि परिसर से करीब डेढ़ किमी दूर रचना टॉवर के सामने सुभाष नगर विश्राम घाट के एंट्री गेट के पास छात्र-छात्रा खड़े होकर बात कर रहे थे। इसी बीच, भेल के खंडहर की तरफ से शराब पीकर कॉन्स्टेबल प्रशांत तिवारी वहां आ धमका। वह वर्दी में था और छात्र से उसने वहां खड़े होने का कारण पूछा। छात्र ने बताया कि वे दोनों पत्रकारिता विवि के स्टूडेंट हैं। साथ में पढ़ते हैं।

इस पर कॉन्स्टेबल ने उन्हें गाली देते हुए कहा कि तुम लोग यहां अय्याशी कर रहे हो। पुलिसकर्मी की ये हरकत देख दोनों वहां से जाने लगे। बावजूद आरोपी कांस्टेबल पीछे से आया और छात्र के साथ मारपीट शुरू कर दी। इतना ही नहीं छात्रा के सामने उसके कपड़े उतरवाने लगा। हंगामा देख वहां भीड़ जमा हो गई और लोगों ने आरोपी कॉन्स्टेबल को घेर लिया। लोगों ने इसके वीडियो भी बनाए।

कॉन्स्टेबल वीडियो न बनाने की हिदायत दे रहा था। इसी बीच, गोविंदपुरा पुलिस की गाड़ी वहां पहुंच गई। आरोपी पुलिस की गाड़ी देखकर भाग निकला। दोनों छात्र-छात्रा भी चले गए। चश्मदीदों ने बताया कि दोनों खुद को माखनलाल पत्रकारिता विश्वविद्यालय के स्टूडेंट्स बता रहे थे और उन्होंने पुलिस से शिकायत करने से मना कर दिया। आसपास के लोगों ने बताया कि छात्र-छात्रा की गलती नहीं थी। वो सिर्फ बात कर रहे थे। पुलिसकर्मी आते ही बदतमीजी करने लगा।

छात्र ने बिना गलती के माफी भी मांगी, लेकिन वो मारता रहा

रचना टॉवर के सामने फुटपाथ पर दुकान चलाने वाले लोगों ने बताया कि यह पुलिसकर्मी हर रोज सुभाष नगर विश्राम घाट के सामने मैदान में शराब पीने आता है। इसके बाद जो लड़के-लड़कियां यहां घूमते हैं अथवा बातचीत करते दिखते हैं, उन्हें पकड़कर पूछताछ और बदतमीजी करता है। बुधवार को भी उसने एक प्रेमी जोड़े को पकड़ा था। हालांकि, बाद उन्हें छोड़ दिया था। रचना नगर के सामने वाला इलाका ऐशबाग और गोविंदपुरा थाने की सीमा पर है। यानी आरोपी अपने थाना क्षेत्र के बाहर इस तरह की हरकतें करता है।

Read more:गुजरात और हिमाचल में चुनाव की तारीखों का ऐलान आज ,3 बजे EC की प्रेस कॉन्फ्रेंस

मामले की नहीं हुई शिकायत

उक्त घटनाक्रम का संज्ञान लेते हुए एएसपी ने आरक्षक को लाइन हाजिर कर दिया है।एएसपी ने बताया कि घटना के संबंध में अभी तक कोई शिकायत प्राप्त नहीं हुई है।आरक्षक नशे में था इसकी पुष्टि नही हुई है,यदि शिकायत प्राप्त होगी तो जांच कराई जाएगी।