रीवा में प्रदेश के मुखिया ने 15 दिन लॉकडाउन बढ़ाने के दिये संकेत,मई माह में जनता कर्फ्यू से राहत की उम्मीद कम

रीवा में प्रदेश के मुखिया ने 15 दिन लॉकडाउन बढ़ाने के दिये संकेत,मई माह में जनता कर्फ्यू से राहत की उम्मीद कम
रीवा में प्रदेश के मुखिया ने 15 दिन लॉकडाउन बढ़ाने के दिये संकेत,मई माह में जनता कर्फ्यू से राहत की उम्मीद कम
  • सीएम ने कहा कि हमने 15 दिन जनता कर्फ्यू का पालन किया तो कोरोना की चैन अवश्य टूटेगी
  • किल कोरोना अभियान जारी रहा तो टूटेगी संक्रमण की चेन-सीएम शिवराज
  • मुख्यमंत्री ने रीवा में आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में अधिकारियों को दिये निर्देश

बुलंदसोच न्यूज़,रीवा 13 मई 2021।

प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान एक दिवसीय प्रवास पर रीवा पहुंचे। मुख्यमंत्री ने कलेक्ट्रेट के मोहन सभागार में जिला आपदा प्रबंधन की बैठक लेकर अधिकारियों को निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने कहा कि किल कोरोना अभियान जारी रखने से कोरोना संक्रमण की चेन टूटेगी। रीवा संभाग में कोरोना की पॉजिटिविटी दर में लगातार कमी हो रही है। सब मिलकर प्रयास करेंगे तो मई माह में ही विन्ध्य क्षेत्र से कोरोना को पराजित करने में सफल होंगे।

Read more:राज्य सरकार अब घर घर पहुंचाएगी शराब,एप के माध्यम से ऑनलाइन होगी बुकिंग

SGMH में वेंटिलेटर और 100 ऑक्सीजन सप्लाई बेड की होगी वृद्धि

मुख्यमंत्री ने कहा कि मेडिकल कालेज रीवा तथा संजय गांधी हास्पिटल में वेंटिलेटर एवं 100 ऑक्सीजन सप्लाई बेड की वृद्धि की जायेगी। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में भी ऑक्सीजन सप्लाई बेड की संख्या बढ़ायें। रीवा में प्रशासन और जनप्रतिनिधियों के साथ मिलकर सामाजिक संगठन तथा आमजन कोरोना को हराने के लिये सराहनीय प्रयास कर रहे हैं। हमने 15 दिनों तक जनता कफ्र्यू के निर्देशों का पालन किया तो कोरोना की चेन अवश्य टूटेगी।

Read more:प्रदेश के इन जिलों से 17 मई के बाद जनता कर्फ्यू में मिलेगी थोड़ी राहत,रीवा समेत अन्य जिलों में अभी जारी रहेगा लॉकडाउन

मई माह में शादी-विवाह न करने सीएम की जनता से अपील

शादी-विवाह तथा अन्य बड़े समारोहों से कोरोना संक्रमण के बढ़ने का खतरा रहता है,इसलिये मई माह में शादियां न करें।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तरप्रदेश की सीमा से जुड़े क्षेत्र पर विशेष ध्यान दें। जिले में गंभीर रोगों के लिये पर्याप्त बेड तथा ऑक्सीजन उपलब्ध है। कोविड केयर सेंटरों में भी कम संक्रमित रोगियों के लिये व्यवस्था की गई है। संक्रमण रोकने के साथ-साथ कोरोना टीकाकरण के लिये भी जागरूकता अभियान चलायें।

यह भी पढ़ें:मंत्री ने विभाग के आला अफसरों से संगठन के पदाधिकारियों से कराई चर्चा,पंचायत सचिव एवं रोजगार सहायक संगठन ने जताया आभार

ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण जागरूकता के लिये जनप्रतिनिधि, सामाजिक संगठन, कोरोना वालेंटियर तथा स्वसहायता समूह मिलकर प्रयास करें। विधायकगण खण्डस्तरीय आपदा प्रबंधन समिति में कोरोना संक्रमण रोकने के उपायों की समीक्षा करें। ग्राम स्तर का भी आपदा प्रबंधन दल सक्रिय प्रयास करेगा तो हम शीघ्र ही कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण प्राप्त कर लेंगे। मुख्यमंत्री कोविड कल्याण योजना से गरीब और मध्यम वर्ग के कोरोना पीडि़तों को नि:शुल्क उपचार की व्यवस्था करायें। इसमें जिले के रोगियों की उपचार सुविधा वाले सभी निजी अस्पतालों को जोड़ें।

बैठक में इन्होंने दिए सुझाव

विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम ने बैठक में सब्जी एवं फल बिक्री के लिये किसानों तथा व्यापारियों को सुविधाजनक समय में बिक्री की व्यवस्था का सुझाव दिया। रीवा के लिये कोरोना मामलों के प्रभारी मंत्री रामखेलावन पटेल राज्यमंत्री पिछड़ावर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण ने कोविड केयर सेंटर की व्यवस्थाओं एवं लॉकडाउन के संबंध में विचार रखे। सांसद जनार्दन मिश्र ने कहा कि होम आइसोलेशन के 99 प्रतिशत रोगी ठीक हो रहे हैं। होम आइसोलेशन रोगियों के लिये शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में बहुत अच्छी व्यवस्था की गई है। सांसद ने आपदा से निपटने के लिये पर्याप्त पुलिस बल उपलब्ध कराने का सुझाव दिया। बैठक में पूर्व मंत्री एवं विधायक रीवा राजेन्द्र शुक्ल ने कहा कि अस्पतालों में बेडों की संख्या में लगातार वृद्धि की जा रही है।

विधायक मऊगंज प्रदीप पटेल ने मऊगंज, चाकघाट एवं हनुमना में ऑक्सीजन सप्लाई बेडों की संख्या में वृद्धि का सुझाव दिया। विधायक मनगवां पंचूलाल प्रजापति ने मनगवां में कोविड केयर सेंटर खोलने एवं समिति के सदस्य डॉ. हरिश्चन्द्र द्विवेदी ने मेडिकल कालेज में कोरोना वैरिएंट के लिये शोध कराने का सुझाव दिया। विधायक गुढ़ नागेन्द्र सिंह ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में उपचार सुविधा बढ़ाने का सुझाव दिया। बैठक में विधायक त्योंथर श्यामलाल द्विवेदी ने उत्तर प्रदेश से आने वाले व्यक्तियों की जिले में प्रवेश से पहले मेडिकल जांच कराने तथा दस दिनों तक क्वारेंटीन रखने का सुझाव दिया।

प्रशासनिक अधिकारियों ने व्यवस्था के बारे में सीएम को दी जानकारी

बैठक में कमिश्नर रीवा संभाग अनिल सुचारी तथा कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने कोरोना संक्रमण को रोकने के उपायों तथा उपचार व्यवस्थाओं की बिन्दुवार जानकारी दी। बैठक में बताया गया कि कोरोना पॉजिटिविटी की दर 30 से गिरकर 16.8 प्रतिशत पर पहुंच गई है। जिले में ऑक्सीजन की आपूर्ति की समुचित व्यवस्था की गई है। जेपी सीमेंट प्लांट के सहयोग से 400 बिस्तरों का कोविड सेंटर तथा 50 ऑक्सीजन सप्लाई बेड का हास्पिटल शुरू किया गया है। संजय गांधी हास्पिटल में बेडों की संख्या एक माह में 350 से बढ़कर 1033 की गई है। निजी अस्पतालों में भी कोरोना उपचार की व्यवस्था की गई है।

यह भी पढ़ें:मध्य प्रदेश में कोरोना को हराने के लिए नई रणनीति:वार्ड, ब्लाॅक व ग्राम क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप बनेंगे

बैठक में ये रहे उपस्थित

बैठक में विधायक सेमरिया केपी त्रिपाठी,भाजपा अध्यक्ष डॉ. अजय सिंह,आईजी उमेश जोगा, पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार सिंह,डीन मेडिकल कालेज डॉ. मनोज इंदुलकर, तथा आपदा प्रबंधन समिति के सदस्य उपस्थित रहे।