जनता कर्फ़्यू:MP में 10 मई तक टोटल लॉकडाउन,कोरोना समीक्षा के लिए तीन ग्रुपों में बंटा मध्यप्रदेश

जनता कर्फ़्यू:MP में 10 मई तक टोटल लॉकडाउन,कोरोना समीक्षा के लिए तीन ग्रुपों में बंटा मध्यप्रदेश
जनता कर्फ़्यू:MP में 10 मई तक टोटल लॉकडाउन,कोरोना समीक्षा के लिए तीन ग्रुपों में बंटा मध्यप्रदेश

7 मई तक जनता कर्फ़्यू का कड़ाई से पालन कराएं अधिकारी:सीएम शिवराज

बुलंदसोच न्यूज़,28 अप्रैल 2021 भोपाल।

MP में 7 मई तक जनता कर्फ़्यू का एलान सूबे के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया है।अब प्रदेश के कई जिलों में 10 मई तक जनता कर्फ़्यू रहेगा क्योंकि 7 मई को शुक्रवार है और पूर्व की भांति शनिवार एवं रविवार को लॉकडाउन रहेगा यानी कि 10 मई की सुबह 6 बजे तक टोटल लॉकडाउन रहेगा।मध्य प्रदेश (MP)में बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहाने ने बुधवार को कोरोना समीक्षा बैठक की. इस बैठक में सभी जिलों के कोरोना नियंत्रण के प्रभारी मंत्रीगण, प्रभारी अधिकारी, कलेक्टर, कमिश्नर, पुलिस महानिरीक्षक, पुलिस अधीक्षक और जिलों के क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्य शामिल हुए.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मैं जल्द ही किसानों को संबोधित करूंगा. साथ ही उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि जिन क्षेत्रों में संक्रमितों की संख्या ज्यादा है, वहां पर कंटेनमेंट जोन बनाकर संक्रमण को रोक जाए. जैसे पहले कड़ाई थी, वैसे ही 7 मई तक कड़ाई का पालन कराएं, क्योंकि प्रदेश में कोरोना का प्रसार कम हुआ और रिकवरी रेट बढ़ी है.साथ ही पॉजिटिव रेट में भी कमी आई है. जो कि आप सभी लोगों के मेहनत का परिणाम है.

इस दौरान मुख्यमंत्री ने संबंधित अधिकारियों को कहा कि उपार्जन उद्योग, मनरेगा के कार्य सुरक्षा पूर्वक कोविड-19 की गाइडलाइंस का पालन करते हुए कराया जाए. साथ ही किसानों के गेहूं की खरीदी एक-एक दाना बिकने तक की जाए. मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना कर्फ्यू (जनता कर्फ़्यू )की वजह से कई गतिविधियां प्रभावित हुईं हैं.

गरीब परिवारों को तीन माह का राशन मुफ्त

Read more:REWA:प्रेमी से मिलने में बाधा बन रही थी बेटी,मां ने पीटपीटकर कर दी हत्या

गरीब परिवार से आने वाले लोगों को 2 महीने का राशन केंद्र सरकार की तरफ से, जबकि तीन माह का राशन मध्य प्रदेश सरकार की तरफ से नि:शुल्क बितरित किया जा रहा है. ऐसे में मेरी लोगों से अपील है कि वे कोरोना कर्फ्यू का पालन करें, ताकि संक्रमण की चेन को तोड़ा जा सके.मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि वैक्सीन की 45 लाख डोज खरीदी का आदेश सरकार ने दिया है. साथ ही रेमडेसिविर इंजेक्शन की सप्लाई के भी निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं. कई अस्पताल एक घंटे पहले बताते हैं कि ऑक्सीजन की कमी है. ऐसे में तत्काल ऑक्सीजन उपलब्ध कराना मुश्किल होता है.

कोरोना समीक्षा के लिए जिलों को बांटा गया तीन ग्रुपों में

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि एक साथ सभी जिलों की कोरोना समीक्षा बैठक नहीं हो सकती है. इसलिए जिलों को तीन ग्रुपों (A, B, C) में बांटा गया है.

Read more:पढ़ेगा इंडिया… या चुनावी दांव देखेगा इंडिया?

ग्रुप A में इंदौर, उज्जैन, रतलाम, टीकमगढ़, धार, अनूपपुर, झाबुआ, नीमच, देवास, निवाड़ी, मंदसौर, खरगोन, शाजापुर, आगर मालवा ,अलीराजपुर, बड़वानी, खंडवा, बुरहानपुर जिले को रखा गया है. जबकि ग्रुप B में भोपाल, ग्वालियर, बैतूल, दतिया, विदिशा, सीहोर, मुरैना, शिवपुरी ,होशंगाबाद, अशोक नगर, रायसेन, राजगढ़ गुना हरदा श्योपुर भिंड जिले शामिल हैं.

यह भी पढ़ें:रीवा में कोरोना कर्फ्यू:11दिन बंद रहेगा जिला,दूध-फल-सब्जी,किराना दुकानें समेत इन गतिविधियों को प्रतिबंध से छूट

वहीं, ग्रुप C में जबलपुर, रीवा, नरसिंहपुर, सिंगरौली, सीधी, पन्ना, सतना, सागर, शहडोल, कटनी, छतरपुर, सिवनी, मंडला, बालाघाट, उमरिया , डिंडोरी, छिंदवाड़ा, और दमोह जिले को रखा गया है.