कोविड के उपचार की हर व्यवस्था सुनिश्चित करें – श्री बिसाहूलाल सिंह

सार्वजनिक स्थलों में मास्क का उपयोग अनिवार्य करें – श्री सिंह

जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में दिवंगत जनरल विपिन रावत को दी गयी श्रद्धांजलि

भोपाल / रीवा । खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण एवं रीवा के प्रभारी मंत्री श्री बिसाहू लाल सिंह ने रीवा के कलेक्ट्रेट सभागार में जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक ली। बैठक की अध्यक्षता प्रभारी मंत्री ने की। बैठक में खाद्य व रीवा जिले के प्रभारी मंत्री ने कहा कि कोरोना संकट के पहले और दूसरे दौर में रीवा जिले में प्रशासन तथा जिला आपदा प्रबंधन समिति ने बहुत अच्छा कार्य किया, जिसके कारण कोरोना के दुष्प्रभाव को सीमित करने में सफलता मिली। प्रदेश के कुछ जिलों में कोरोना के रोगी मिले हैं। रीवा जिले को कोरोना की तीसरी लहर से बचाने के लिए मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये हैं। सबके सहयोग से जिले में कोरोना की तीसरी लहर को पूरी तरह से रोकने में हमें सफलता मिलेगी। इसके लिए जिला स्तर तथा विकासखण्डों में व्यापक प्रबंध किये जा रहे हैं। कोविड के उपचार की हर व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है। कलेक्टर जिले के सभी सार्वजनिक स्थलों में मास्क का उपयोग अनिवार्य रूप से करें। समर्थन मूल्य पर धान खरीदी केन्द्रों में भी कोविड गाइड लाइन का पालन सुनिश्चित करें।
मंत्री श्री सिंह ने कहा कि जिले के सभी विधायकगण तथा जिला आपदा प्रबंधन समिति के सदस्य मिलकर जिले के सभी अस्पतालों में कोरोना उपचार की व्यवस्थाओं की निगरानी करेंगे। यदि किसी तरह की कमी है तो उसे तत्काल पूरा कराया जायेगा। कोरोना से बचाव के लिए लोगों को पुन: जागरूक करें जिले में कोविड टीकाकरण अभियान अच्छे से चलाया जा रहा है। जिले में हर पात्र व्यक्ति को 25 दिसंबर को वैक्सीन की दोनों डोज का टीका लगाना सुनिश्चित करें। बैठक में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल विपिन रावत तथा हेलीकाप्टर दुर्घटना में दिवंगत 12 अन्य लोगों को दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि अर्पित की गयी।
इस अवसर पर पूर्व मंत्री एवं रीवा विधायक श्री राजेन्द्र शुक्ल, विधायक सिरमौर दिव्यराज सिंह, विधायक त्योंथर श्यामलाल द्विवेदी, विधायक मनगवां तथा जिला भाजपा अध्यक्ष डॉ. अजय सिंह क्राइसेस मैनेजमेंट समिति के सदस्यों ने भी सुझाव दिये। बैठक में कलेक्टर ने बताया कि जिले में वर्तमान में आक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता है। प्रतिदिन 2,280 सेलेंडर भरे जाने की सुविधा उपलब्ध है। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में 593 आक्सीजन कांस्ट्रेटर लगाये जा चुके हैं। जिले में 440 आईसोलेशन बेड, 1,082 आक्सीजन बेड, 491 आईसीयू बेड तथा 132 वेंटीलेटर बेड उपलब्ध हैं। जिले में अब तक कोरोना वैक्सीन का टीकाकरण में प्रथम डोज 94.6 प्रतिशत तथा दूसरी डोज 71.3 प्रतिशत लगायी जा चुकी है। बड़े जिलों में रीवा प्रदेश के पांच आग्रणी जिलों में शामिल है। कार्यक्रम में समिति के सदस्य, विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।