MP Teacher bharti-आदिम जाति कल्याण विभाग में वर्ग 2 में ओबीसी वर्ग कोटे के अभ्यर्थियों का अनारक्षित कोटे से नियुक्ति घोटाला है या……

अभिषेक दुबे / शहडोल

मध्यप्रदेश में कछुआ चाल जैसी चल रही भर्ती प्रक्रिया में घोटाले का अंदेशाजताया जा रहा है। आदिम जाति कल्याण विभाग में शिक्षक भर्ती प्रक्रिया में वर्ग 2 माध्यमिक शिक्षक भर्ती में अन्य वर्ग में सेलेक्ट अभ्यर्थियों को सामान्य वर्ग अनारक्षित कोटे से नियुक्ति पत्र देना ये घोटाला है या विभाग की तरफ से त्रुटि यह समझ से बाहर है।

मिली जानकारी के अनुसार आदिम जाति कल्याण विभाग में शहडोल संभाग में की गई हिंदी विषय में नियुक्ति में घोटाले की बू आ रही है। ओबीसी आरक्षण कोटे से चयनित अभ्यर्थियों को अनारक्षित कोटे से नियुक्ति का मामला प्रकाश में आया है। सीता गुर्जर एवं निर्मनला सिंह नामक अभ्यर्थी ओबीसी कोटे से पात्र हैं लेकिन विभाग ने नियुक्ति अनारक्षित श्रेणी में दे दिया है इसी तरह विद्द्या तिवारी नामक अभ्यर्थी ews कोटे से पात्र हैं लेकिन उसे भी अनारक्षित कोटे से नियुक्ति दे दी गई है।

अनारक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों ने इस घोटाले पर कड़ी आपत्ति दर्ज कराई है ,उनका कहना है जब ये अभ्यर्थी अपने वर्ग के कोटे में भी मेरिट में है ये अनारक्षित वर्ग के कोटे में कहीं भी नही है तो विभाग ने इन्हें ओबीसी व ews कोटे से हटाकर अनारक्षित वर्ग में नियुक्ति क्यों दी , यह विभाग ने जानबूझकर किया है या कोई लिपकीय त्रुटि जांच का विषय जरूर है।