आवासीय भत्ता एवं छात्रवृत्ति ना मिलने से नाराज छात्र हड़ताल पर,3 वर्ष से नहीं मिला आवासीय भत्ता

अनूपपुर
राजेंद्रग्राम :- शासकीय महाविद्यालय पुष्पराजगढ़ के छात्र-छात्राओं द्वारा अपनी 5 सूत्रीय मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठ गए हैं ।दिनांक 3 मार्च 2021 को शासकीय महाविद्यालय पुष्पराजगढ़ के समस्त छात्र छात्राओं ने कॉलेज बंद कर कॉलेज के सामने हड़ताल पर बैठे हैं ।उन्होंने बताया कि आवासीय भत्ता जब तक नहीं मिल जाता हड़ताल लगातार जारी रहेगी।


3 वर्ष से नहीं मिला आवासीय भत्ता

पुष्पराजगढ़ महाविद्यालय में पढ़ने वाले 1600 आदिवासी छात्र छात्राओं को वर्ष 2018-19 से 2020 -21 तक का शासन द्वारा दिया जाने वाला आवासीय भत्ता आज दिनांक तक नहीं मिला है। जिसके कारण आर्थिक रूप से कमजोर होने के कारण आदिवासी छात्र छात्राओं को परेशानी उठानी पड़ रही है। जिससे पढ़ाई नहीं कर पा रहे हैं इसी प्रकार से वर्ष 2020- 21 अनुसूचित जनजाति के छात्र छात्राओं के लिए छात्रवृत्ति फॉर्म पोर्टल एम. पी . टास अभी तक चालू नहीं हुआ है जिससे फॉर्म नहीं भरे गए हैं।


प्राध्यापकों की कमी

महाविद्यालय पुष्पराजगढ़ में शिक्षकों की कमी होने के कारण पढ़ाई बाधित हो रही है जिसके कारण सभी छात्र छात्राएं परेशान हैं उनके द्वारा शिक्षकों की भर्ती किए जाने की मांग की गई है इसी प्रकार से प्रयोगशाला कक्ष एवं अध्ययन कक्ष की व्यवस्था नहीं है जिसके कारण छात्र-छात्राओं के बैठने की व्यवस्था नहीं हो पा रही है

सहायक आयुक्त ने दिया आश्वासन

सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग अनूपपुर पी. एन चतुर्वेदी ने महाविद्यालय पहुंचकर छात्र-छात्राओं को जानकारी देते हुए आश्वासन दिया कि एम. पी टॉस रुका हुआ है उसमें स्थानीय निकाय का क्लिच है उसको सॉफ्टवेयर से हटाया जा कर संशोधन किया जा रहा है क्लिच हट जाने के बाद छात्र फॉर्म करेक्शन कर लेंगे करेक्शन के बाद 3 – 4 दिन में इसका समाधान हो जाएगा इस संबंध में भोपाल में बात हुई है शीघ्र ही सभी छात्र छात्राओं का रुका हुआ आवासीय भत्ता का भुगतान किया जाएगा ।

पूर्व में भी दिया गया था आश्वासन

विगत वर्ष फरवरी 2020 में भी आवासीय भत्ता ना मिलने के कारण महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं द्वारा हड़ताल एवं ज्ञापन दिया गया था लेकिन 1 वर्ष बीत जाने के बाद भी आज दिनांक तक गरीब आदिवासी छात्र छात्राओं को 3 वर्ष का आवासीय भत्ता नहीं मिल पाया है जिसके कारण पुन: छात्र-छात्राओं द्वारा हड़ताल की जा रही है।