REWA:विधानसभा अध्यक्ष के पुत्र राहुल गौतम जिला पंचायत सदस्य का चुनाव हारे,पद्मेश गौतम को मिली जीत

Panchayt election result rewa

जिला पंचायत की वार्ड क्रमांक 27 में दांव में लगी थी विधानसभा अध्यक्ष की प्रतिष्ठा,स्वयं कर रहे थे प्रचार

बुलंदसोच न्यूज़,26 जून 2022 रीवा।

Panchayat Election result Rewa:त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के प्रथम चरण का मतदान 25 जून को सम्पन्न हुआ।मतदान का परिणाम आज सुबह 11 बजे से आने शुरू हो गए।गाँवो में जश्न का माहौल है तो वहीं चुनाव हार चुके प्रत्याशियों में मायूसी है।रीवा (Rewa ) जिले के की बहुचर्चित जिला पंचायत सदस्य की सीट वार्ड क्रमांक 27 से पद्मेश गौतम विजयी हुए हैं।फिलहाल इसकी अधिकृत जानकारी सामने नहीं आयी है।प्रशासन की ओर से देर शाम तक सभी पंचायतों के परिणाम घोषित किये जायेंगे।

Read more:शिवसेना विधायक को गुजरात पुलिस ने जमकर पीटा,पत्नी ने दर्ज कराई गुमसुदगी की रिपोर्ट

किस वजह से चर्चा में था वार्ड 27

वैसे तो पंचायत चुनाव के मैदान में कई दिग्गज थे।लेकिन रीवा जिले की जिला पंचायत (jila panchayat rewa)की वार्ड 27 की सीट मध्यप्रदेश के विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम (mp vidhansabha speaker girish gautam) की वजह से सुर्खियों में थी।क्योंकि यहां से उनके पुत्र राहुल गौतम मैदान में थे।तो वहीं इनके विरुद्ध अध्यक्ष के भतीजे पद्मेश गौतम चुनाव मैदान में थे।पुत्र और भतीजे के चुनाव में पिता ने पुत्र का खुलकर प्रचार किया।

जनमानस में राहुल गौतम की छवि खराब

विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम (mp vidhansabha speaker girish gautam) के पुत्र राहुल गौतम की छवि जनमानस में धीरे-धीरे खराब होती गई।यही कारण रहा कि उनको इस चुनाव में हार का सामना करना पड़ा।कुछ समय पूर्व टोल प्लाजा के मैनेजर से गाली-गलौच के वायरल ऑडियो तो चुनावी समय मे स्वयं विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम के वायरल वीडियो चुनाव की हार का कारण बने।जनता ने अपने जनादेश से स्पष्ट कर दिया कि चुनाव में धन बल बाहुबल एवं पद का दुरूपयोग संभव नहीं है।

Read more:MP NEWS:एक लाख सरकारी पदों पर भर्ती करने की प्रदेश सरकार की तैयारी

कांग्रेस समर्थित थे पद्मेश गौतम

पंचायत चुनाव (panchayat election result rewa) के परिणामों में भाजपा को गहरा झटका लगा है।कई दिग्गज भाजपा समर्थित प्रत्याशियों को प्रथम चरण के परिणाम में हार का सामना करना पड़ा है।पद्मेश गौतम कांग्रेस समर्थित उम्मीदवार थे तो वहीं मऊगंज (mauganj) से भाजपा समर्थित संतोष सिंह सिसोदिया को भी हार का सामना करना पड़ा है।संतोष सिंह सिसोदिया पूर्व जनपद अध्यक्ष थीं।भाजपा के जिला स्तरीय नेताओं में प्रभावशाली नेत्रियों में से एक हैं।

2014 में चुनाव हार चुके हैं दोनों

जिला पंचायत के 2014 में हुए आम चुनाव में राहुल गौतम और पद्मेश गौतम दोनों पराजित हो गए थे लेकिन चुनाव दोनों अलग-अलग वार्ड से लड़े थे। राहुल गौतम तब वार्ड नंबर-14 से लड़े थे जिसमें उनके खिलाफ अब कांग्रेस के नेता जयवीर सिंह लड़े थे। वो चुनाव राहुल गौतम करीब साढ़े 5 हजार वोट के अंतर से हारे थे। कांग्रेस नेता जयवीर सिंह का आरोप है कि जिला पंचायत के चुनाव में तत्कालीन विधायक और वर्तमान स्पीकर गिरीश गौतम के इशारे पर प्रशासनिक मशीनरी ने उनके खिलाफ मुकदमे लगाकर यहां तक कि उनकी पत्नी और इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे बेटे के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया था। खुद जयवीर सिंह बताते हैं कि वे अपना मतदान तक नहीं कर पाए थे। उन्हें पुलिस और प्रशासन ने कथित तौर पर नजरबंद कर दिया था। जबकि वार्ड नंबर-27 से पद्मेश गौतम को माया सिंह से हार का सामना करना पड़ा। कहा जाता है कि पद्मेश को हराने में भी देवतालाब विधायक का ही हाथ रहा है।

जिला पंचायत उपाध्यक्ष रह चुके हैं राहुल

विधानसभा के स्पीकर और देवतालाब विधायक गिरीश गौतम के बेटे राहुल गौतम (rahul gautam)2009 से 14 तक जिला पंचायत रीवा में उपाध्यक्ष रहे हैं। इस दौरान वे स्थाई शिक्षा समिति के अध्यक्ष रहे। इस पद पर रहते हुए भी उनपर पदीय दुरुपयोग का आरोप लगा था।