मध्यप्रदेश का ऐसा जिला जहां पर शासन प्रशासन के नियमों की उड़ाई जाती हैं धज्जियाँ

अनूपपुर/ कोरोना महामारी से पूरा विश्व जूझ रहा है।हर तरफ कोरोना बीमारी से बचने के लिए नई नई गाइडलाइन सरकार दे रही है वही मध्यप्रदेश का एक ऐसा जिला जहाँ के अधिकारी गण कोरोना बीमारी में लोगों को धकेलने का पूरा प्रयास करने से पीछे नही हट रहे हैं।


मध्यप्रदेश के अनूपपुर जिले में चाहे स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी हों या शिक्षा विभाग के अधिकारी मध्यप्रदेश सरकार की आंखों में धूल झोंकते हुए अपनी ही सरकार बनाए हुए हैं अपने ही नियम कानून को जबरन चलाने का कांड कर रहे हैं। मिली जानकारी के अनुसार कोरोना महामारी के दौरान स्वास्थ्य विभाग अनूपपुर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ बी डी सोनवानी ने शिवराज सरकार को आंख दिखाते हुए महिला पुरूष नसबंदी कराने का निर्णय लिया ,कोरोना गाइडलाइन को दर किनार करते हुए अधिक से अधिक एक ही दिन में नसबंदी करवाने का आदेश जारी किया है।

शिक्षा विभाग की तरफ नजर दौड़ाएं तो अनूपपुर जिले में कई शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय हैं जहाँ पर प्राचार्य ने अपनी मनमर्जी थोप रखी है एक तो अतिथि शिक्षकों का मानसिक शोषण तो है ही वहीं कई विद्यालय ऐसे हैं जहाँ पर सुबह और शाम को प्रार्थना सभा का आयोजन किया जा रहा है, जबकि शिक्षा विभाग ने कोरोना महामारी को देखते हुए प्रार्थना सभा करने पर रोक लगाई है।
मध्यप्रदेश सरकार की निरंकुश व्यवस्था को देखते हुए अनूपपुर का स्वास्थ्य विभाग और शिक्षा विभाग अपनी तानाशाही पर उतारु है।