स्थानांनतरण नीति 2022:समय­सीमा समाप्त,बड़े विभागों में नहीं हो पाए तबादले

प्रदेश में तबादलों (transfer)में दी गई छूट की समय सीमा 5 अक्टूबर से समाप्त हो गई है। संभावना जताई जा रही है कि इसकी समय सीमा में वृद्धि(increase time limit in transfer policy 2022) की जा सकती है। तारिख को 10 अक्टूबर तक बढ़ाये जाने की संभावना है।
प्रदेश में तबादलों (transfer)में दी गई छूट की समय सीमा 5 अक्टूबर से समाप्त हो गई है। संभावना जताई जा रही है कि इसकी समय सीमा में वृद्धि(increase time limit in transfer policy 2022) की जा सकती है। तारिख को 10 अक्टूबर तक बढ़ाये जाने की संभावना है।
  • प्रतिबंध हटने की समय­सीमा 10 अक्टूबर तक बढ़ने की संभावना

प्रदेश में तबादलों (transfer)में दी गई छूट की समय सीमा 5 अक्टूबर से समाप्त हो गई है। संभावना जताई जा रही है कि इसकी समय सीमा में वृद्धि(increase time limit in transfer policy 2022) की जा सकती है। तारिख को 10 अक्टूबर तक बढ़ाये जाने की संभावना है। प्रदेश के बड़े विभाग के तबादले अब भी नहीं हो सके हैं। कारण नगरीय निकाय चुनाव,चीते का कूनो कार्यक्रम,त्यौहार एंव छुट्टियां रहीं जिसके कारण अधिकांश विंभाग के मंत्री राजधानी में नहीं रहे। उच्च शिक्षा,राजस्व,पुलिस एंव स्कूल शिक्षा समेत कई बड़े विभाग में तबादले नहीं हो सके हैं। तबादलों क ो लेकर अधिकारियों और मंत्रियों के बीच खींचतान जारी है। वहीं तबादला कराने वाले कर्मचारी­अधिकारी एंव उनके परिजन भी मंत्रियों के बंगलों के चक्कर काटकाट कर थक गए हैं,क्योंकि अधिकांश मंत्री तबादले के समय भोपाल में रहे ही नहीं।

READ MORE:छोला मैदान में भव्यतौर पर मनाया जायेगा दशहरा,61 फिट के रावण का होगा दहन

17 सितबंर से तबादले से हटा है प्रतिबंध

प्रदेश में तबादले से प्रतिबंध 17 सितंबर से हटाया गया है। तबाादला करने की समय­सीमा(transfer policy time limit) 17 सितंबर से 5 अक्टूबर तय की गई थी लेकिन 17 सितंबर को प्रधानमंत्री मोदी कूनो में चीतों को छोड़ने आये थे। इस कारण से मंत्रिमण्डल के सदस्य गण समेत पूरी प्रशासनिक लॉबी इस कार्यक्रम में ही व्यस्त रही। उसके बाद मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान,प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन का कार्यक्रम,उज्जैन पंचमढ़ी एवं रातापानी में बैठके सहित नगरीय निकाय के चुनाव के कारण मंत्रीगणों का भोपाल में कम ही रहना हुआ। इस कारण से तबादले नहीं हो सके। अब 11 अक्टूबर को प्रधानमंत्री फिर से उज्जैन में महाकाल लोक का शिवार्पण करने आ रहे हैं इस कारण से अधिकांश मंत्री फिर से व्यस्त रहने वाले हैं। संभावना जताई जा रही है कि 10 अक्टूबर तक तबादलों में लगे प्रतिबंधात्मक छूट की समय सीमा में वृद्धि की जा सकती है।

इन विभागों में सबसे ज्यादा ऊहापोह

सबसे बड़े विभागों में स्कूल शिक्षा,उच्च शिक्षा,राजस्व,पुलिस,तकनीकी शिक्षा सहित बिजली विभाग में स्थानांनतरण को लेकर लंबी सूची लंबित है। कई विभाग में तो मंत्रियों और अधिकारियों के बीच विवाद के चलते भी स्थानांनतरण में देरी हो रही है। वहीं नरोत्तम मिश्रा,विश्वास सारंग,कमल पटेल इस समय सबसे ज्यादा भोपाल में रहे तो अनेक मंत्री इस समय सीमा में एक भी दिन भोपाल में नहीं रहे।

READ MORE:BHOPAL:3 साल की मासूम के साथ फंदे पर झूली मां,पति-पत्नी के बीच हुई थी सामान्य कहासुनी